जवाब

राजीव रंजन

एक ही सवाल कई बार
मैंने कई तरह से पूछा
इस उम्मीद में कि शायद
जवाब कुछ अलग मिले
मगर, हर बार
अलग-अलग तरीकों से
वही जवाब आया
मैंने सवाल बदल दिया
पर, जवाब वही रहा
दरअसल, जवाब सवालों पर नहीं,
जवाब देने वालों पर निर्भर करते है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

If you call me

रोमांस और कॉमेडी में पगी बरेली की बर्फी

सेठ गोविंद दास: हिंदी को राजभाषा का दर्जा देने के बड़े पैरोकार